Nifty in Hindi: निफ्टी क्या होता है

Nifty in Hindi:- नमस्ते ! मित्रो तो आज हम Share Market के बहुत ही महत्वपूर्ण अंग Nifty के बारे में जानेगे की Nifty क्या होता है सबसे पहले की निफ़्टी होता क्या है : Nifty Share Market का एक हिस्सा है अगर आप निफ़्टी को समझ गए तो आप के लिए Share Market को जानना बहुत आसान हो जायेगा की Share Market होता क्या है और हम इसमें किस तरह से विनियोग कर सकते है। इसमें अगर आप Nifty के Share के बारे में जान गए तो मतलब आप पूरे Share Market को जान गए। विस्तार से जानने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक ध्यान से पढ़े |

 

जिनको भी Share Market की जानकारी लेनी होती है तो वो ये सोचते है की हम क्या करे कैसे पता करे या किससे पूछे या फिर कहा से शुरूआत करे हमारे मन में यही सवाल होते है की Nifty क्या है, और इसका पूरा अर्थ क्या है , या फिर Nifty Bank क्या है

इस तरह के सवालो के लिए आप परेशान न हो क्यूंकि ये आपके सवाल नहीं बल्कि अब ये हमारी जिम्मेद्दारी है की हम इन सवालों को किस तरह हल करे। हम आपको बहुत ही आसान भाषा में बताएंगे जिससे आपको बहुत कम शब्दों में Nifty के बारे में पूरा पता चल जाए , आपको इस Paragraph को पूरा और ध्यान से अंत तक पढ़ना है

FULL FORM OF NIFTY

Nifty: ” National Stock Exchange Fifty ” या यदि हम हमारी आम भाषा हिंदी में कहे तो “राष्ट्रीय शेयर बाजार पचास”
इसका मतलब है की राष्टीय शेयर बाजार के अंदर 50 company है।

Nifty in Hindi

Nifty एक Stock Index है या सरल भाषा में कहे तो Nifty में Listed Top 50 Shares का एक Benchmark है और इसलिए यह इतना महत्वपूर्ण है। Nifty में Listed Top 50 Shares बडे ही Important और Powerful होते है एवं जब इन Shares में उतार चढाव होता है तो इसका असर बाकी Shares पर भी पडता है। NIFTY में 50 से ज्यादा कंपनियो के स्टॉक लिस्ट नहीं किये जा सकत।Nifty एक Stock Index है

और इसके अंदर Stock Exchange के 12 अलग-अलग Sector की 50 Company शामिल है। Nifty में 50 Company से ज्यादा Company के Shares Listed नहीं किए जा सकत। इस लिए इसे Nifty 50 कहते है। Nifty में हमेशा Top 50 companies होती है और ये companies अपनी Performance के कारण Nifty 50 की List में आती-जाती रहती है।
Nifty top 50 companies के बारे में जानकारी देता रहता है : जैसे की – Bank Nifty

Nifty की मदद से हम यह पता सकते है है की आज Share Market में क्या परिवर्तन आया है कितने Shares गिरे या कितने ओर Share बड़े या और कितना investment हुआ हम Nifty की मदद से ये पूरी जानकारी ले सकते। Nifty Shares Market की Condition के बारे में बताता है और उसमे हुए बदलाव के बारे में बताता है।

Bank Nifty क्या है या इसका पूरा नाम क्या है

Bank Nifty: ” Bank National Stock Exchange Fifty ” यह इसका पूरा नाम है हम इसे Nifty Bank भी कह सकते है।

Nifty Bank को India Index service Product Limited (IISL)ने सन 2000 में इसका Index किया था। Bank Nifty Mostly Indian Banking Sector के 12 सबसे बडे Stock Shares के बारे में जानकारी देती है जो National Stock Exchange पर Listed होते है। देखा जाये तो ये 12 Shares Nifty के Important Shares होते है और इन Shares में होने वाले उतार-चढ़ाव से Nifty पर भी असर पडता है क्योंकि Nifty में bank Nifty के Share ज्यादा होते है लेकिन यह List भी बदलती रहती है।

लेकिन फिर भी Bank nifty का Nifty पर असर जरूर पडता है। इस लिए अगर आप Share Bazar में निवेश कर रहे है या करने के बारे में सोच रहें है तो आपको Nifty की जानकारी लेते रहना चाहिए।आप Nifty की जानकारी Website ,या News channel या News Pepers से भी ले सकते है।

Check This Also
Adani Green Energy Share Price Target-2022, 2023, 2025, 2030
Adani Power Share Price Target-2022, 2023, 2025, 2030
IRFC Share Price Target- 2022, 2023, 2025, 2030
Rcom Share Market Price And Best Target 2022, 2023, 2025, 2030
Vodafone Idea Share Price And Best Target 2021, 2022, 2023, 2025, 2030

NIFTY की विशषताए

  1.  NIFTY का काम होता है हमे Share market की पूरी जानकारी देना क़ि Share Market में Invest कैसे किया जाता है या आज Market में कितना उतार – चढ़ाव हुआ है।
  2. NIFTY से हमे पता चलता है की जिन COMPANIES के Share Listed है वो Company किस तरह से काम कर रही है अगर ये Company काम अच्छे से कर रही है तो Share market में Share Market की Position भी अच्छी है और हमारे पास और investors आ सकते है या ऐसे कहे क़ि Company Profit क़ि स्थिति में है।
  3. अगर index में Listed companies को profit कम हो रहा है या नहीं हो रहा है तो इसका असर भी सीधा उस Company के Shares के भाव पर पड़ता है और Shares के भाव में कमी आने लगती है, और जब shares के भाव में कमी आती है तो Nifty में गिरावट देखी जा सकती है।
  4. NSE किस प्रकार का काम कर रहा है NSE की Performance के बारे में एक नजर में ही पता चल जाना।

NIFTY और अर्थव्यवस्था

अर्थव्यवस्था एक बहुत ही बड़ा साधन होता है किसी भी चीज को Manage करने का अब आप सोच रहे होंगे क़ि अर्थव्यवस्था और Nifty का क्या सम्बन्ध है।
जैसे क़ि Nifty का बढ़ना हमें बताता है कि कोई कंपनी अच्छा Profit कमा रही है और Gain कर रही है। वैसे ही जब Company अच्छा काम कर के अपनी income बढाती है तो इससे देश क़ि अर्थव्यवस्था भी अच्छी और मजबूत होती है। अगर Indian Companies Gain की स्थिति में रहे तो हमारे देश को ही फायदा होगा क्यूंकि जितना ज्यादा Capital Gain होगा उतना ही Tax में पैसा Add होगा और इससे हमारा देश बहुत जल्द Develop होगा।

NIFTY किस प्रकार बनता है

Nifty में Listed 50 Companies को चुनने का index committee का होता है इस committee में बड़े बड़े इकोनॉमिस्ट आदि शामिल होते है।

  • NIFTY किस तरह बनता है इससे तात्पर्य है उन 50 Listed कंपनियों के shares की गणना करना। nifty में जहां सिर्फ 50 Companies Listed होती है वही NSE में लगभग 6000 के आसपास Comapanies Listed होती ह। अब उन 6000 कंपनियों में से 50 सबसे बड़ी कंपनियों को nifty में रखा जाता है जिससे बाजार की चाल का अनुमान लगाया जा सके।
  • NIFTY में लिस्टेड 50 कंपनियों के शेयर सबसे ज्यादा खरीदे या बेचे जाते है। ये अपने क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनियां होती है। इनका Market Capitalization पूरे बाजार का लगभग 60% होता है। जब भी इन कंपनियों के Shares ज्यादा खरीदे जाने लगते है तो Nifty ऊपर जाने लगता है और जब मंदी आती है तो Nifty फिर नीचे आने लगता है।

Nifty in Hindi

NIFTY और Sensex में  अंतर 

Nifty और Sensex वेसे तो दोनों ही स्टॉक इंडेक्स है पर दोनों में कुछ अंतर है जो इन्हें एक दुसरे से अलग और एक को दुसरे से बेहतर बनाते है- Nifty National Stock Exchange का हिस्सा है जबकि Sansex Bombay Stock Exchange का हिस्सा है।

जहाँ एक और BSE यानी की Bombay Stock Exchange के अंदर मात्र 30 कंपनियां ही listed हैं वहीं NIFTY के अंतर्गत 50 कंपनियां listed होती है। 50 कंपनियां 30 कंपनियों के मुक़ाबले में market capitalization का आंकलन बाजार की ज्यादा वास्तविक स्थिति दिखाने में कर पाएंगी।

इन दोनों indexo पर पूरी दुनिया की नज़र रहती है और इनके बढ़ने पर विदेशी निवेशक भी बढ़ते है।

दोनों का काम वेसे एक ही है दोनों ही सूचकांक है और दोनों का ही वास्तविक मकसद Share Market की स्थिति बताना होता है।

NIFTY के लाभ 

  1. Nifty के माध्यम से निवेशक को बाजार की पूरी और सही जानकारी मिल जाती है | जिससे क़ि उसे पता चल जाये क़ि उसे कब Share Market में अपने पैसे लगाने है या कब Share Market से बहार जाना है।  
  2. Nifty Index अगर बढ़ रहा है तो इसका मतलब है companies अच्छी Growth कर रही है जिससे हमारे देश में रोजगार की सुविधा बढ़ रही है और देश की उन्नति हो रही है।  
  3. Nifty से देश की आर्थव्यवस्था में भी बदलाव आ सकता है बस ये इस बात पैर निर्भर करता है कि nifty से कंपनी profit की Situation पर है या Loss की।

Nifty की गणना 

  • निफ्टी की गणना करते समय हमे Base Year का ध्यान रखना होता है। इसमें Base year 1995 लेते है और Base index को 1000 माना जाता है |
  • इसके साथ ही हमे इसके अंदर Market Capitalization और Free Float Market Capitalization को भी देखते है।
  • Market Capitalization कंपनी की कुल कीमत को दिखाता है जो कि किसी कंपनी के मौजूदा Share की कीमत को कंपनी के सारे उपलब्ध Share से Multiply करके निकलता है|
  • माना कि एक abc कंपनी है जिसके एक शेयर की मौजूदा कीमत Rs 50 है ,और उस कंपनी के कुल शेयर की संख्या 20000 है तो उसका market cap 50*20000 = Rs 1000000 हो जाता है।
  • Market capitalization = current price of a Share × total number of shares
  • यहा पर यह जानकारी बहुत जरुरी है कि कंपनी में बहुत तरह के investor होते है उनमे से कुछ promoters भी होते है जिनके Shares
  • Share Market में न तो बेचे जाते है और न ही ख़रीदे जाते है।
  • Free Float Market Capitalization में shares को मौजूदा Share कि कीमत से multiply किया जाता है जो कि shares खरीदने या बेचने के लिए उपलब्ध हो।
  • मान लीजिये एक xyz कंपनी है जिसके एक शेयर की मौजूदा कीमत Rs 50 है ,और उस कंपनी के कुल शेयर की संख्या 20000 है और प्रोमोटर्स के पास कंपनी के 1000 शेयर्स है तो उसका मार्किट कैप 50*20000= Rs 1000000 हो जाता है और उसका फ्री फ्लोट मार्किट कैप 50*19000=Rs 950000
  • Free Float Market Capitalization= Total no of shares available for trading * current price of a Shares
  • जब हम Nifty की गणना करते है तो शिर्ष 50 कंपनियों के Free Float Market Capitalization को मिला देते है और उसको 1995 के Nifty index 1000 से Multiply कर देते है और मान लीजिये 1995 में बाज़ार का Market cap 5000 था तो उसको 5000 से divide कर देते है |
  • Nifty Index=Sum Of free-float market capitalization * index value in 1995/market cap in 1995

निफ़्टी की सूचीबद्ध ( List of Nifty 50 Companies )

IndustryCompany NameWeightage (%)
AutomobileBajaj Auto0.86
Hero MotoCorp0.69
Eicher Motors0.6
Mahindra & Mahindra1.27
Maruti Suzuki India1.87
Tata Motors0.82
Financial ServicesAxis Bank3.16
HDFC Bank10.53
ICICI Bank5.55
IndusInd Bank1.74
Kotak Mahindra Bank3.91
State Bank of India2.45
Yes Bank0.66
Bajaj Finance1.55
Bajaj Finserv0.96
HDFC6.95
Indiabulls Housing Finance0.49
CementGrasim Industries0.75
UltraTech Cement1.02
CigarettesITC5.46
Information TechnologyHCL Technologies1.36
Infosys6.03
Tata Consultancy Services5.01
Tech Mahindra1.11
Wipro0.95
Consumer GoodsHindustan Unilever2.65
Britannia Industries0.72
Titan Company1.02
Asian Paints1.39
EngineeringLarsen & Toubro3.51
Metals & MiningCoal India0.89
Vedanta0.64
JSW Steel0.66
Hindalco Industries0.64
Tata Steel0.89
EnergyONGC1.08
NTPC1.15
Power Grid Corporation of India0.91
BPCL0.63
Indian Oil Corporation0.79
Reliance Industries10.07
GAIL (India)0.68
FertilizerUPL0.75
PharmaCipla0.61
Dr. Reddy’s Laboratories0.75
Sun Pharmaceutical Industries1.07
ShippingAdani Ports0.65
Media & EntertainmentZee Entertainment Enterprises0.51
TelecomBharti Infratel0.47
Bharti Airtel1.15
Click More Updates
25 Best Stock Market Books- Every Stock Trader Must Read
Short Selling And The Best Example Of 1992- In Share Market
ADR And GDR- Sources of Business Finance
Liquid Funds And Best 10 Liquid Funds To Invest- In Hindi
10 Best Mutual Funds To Invest

यह सब कुछ आज आपने इस लेख के जरिये जाना है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। अगर आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। हमारे इस लेख को अपने दोस्तों,रिश्तेदारों,इत्यादि तक शेयर करना न भूले। मैं आरती देवतवाल आपका तहे दिल से शुक्रिया करती हूँ| कि आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ा। और आपने अपना कीमती समय इसे पढ़ने में लगाया। एक बार फिर से दिल से धन्यावद ..!

Nifty क्या होता है?

Nifty एक Stock Index है इसका मतलब है की राष्टीय शेयर बाजार के अंदर 50 company है।

Bank Nifty क्या है या इसका पूरा नाम क्या है ?

 
Bank Nifty: ” Bank National Stock Exchange Fifty ” यह इसका पूरा नाम है हम इसे Nifty Bank भी कह सकते है।

NIFTY का पूरा नाम क्या है ?

NIFTY का पूरा नाम National Stock Exchange Fifty होता है।

NIFTY और Sensex में  अंतर  बताईये ?

Nifty और Sensex वेसे तो दोनों ही स्टॉक इंडेक्स है पर दोनों में कुछ अंतर है जो इन्हें एक दुसरे से अलग और एक को दुसरे से बेहतर बनाते है- Nifty National Stock Exchange का हिस्सा है जबकि Sansex Bombay Stock Exchange का हिस्सा है।

NIFTY के क्या-क्या लाभ होते है ? 

 Nifty के माध्यम से निवेशक को बाजार की पूरी और सही जानकारी मिल जाती है | जिससे क़ि उसे पता चल जाये क़ि उसे कब Share Market में अपने पैसे लगाने है या कब Share Market से बहार जाना है। Nifty Index अगर बढ़ रहा है तो इसका मतलब है companies अच्छी Growth कर रही है जिससे हमारे देश में रोजगार की सुविधा बढ़ रही है और देश की उन्नति हो रही है।
 

Leave a Comment